0

सॉफ्टवेर क्या होता है ( what is software, information in Hindi )

software kya hai ?

कभी आपको लगा होगा के ये सॉफ्टवेर क्या होता है, इसी लिए आज आसान भाषा में हम समझते है के सॉफ्टवेयर किसे कहते है। इस काम क्या होता है, और ये कौन कौन से रूप में उपलब्ध है।

what is software in hindi | software kya hai


बिना सॉफ्टवेर के आप कंप्यूटर पर या किसी भी डिवाइस ( Device ) पर कोई भी काम नहीं कर सकते. सॉफ्टवेर के बिना कंप्यूटर बेजान है. वैसे ही हार्डवेयर के बिना सॉफ्टवेयर किसी काम का नहीं होता, सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर एक दूसरे पर निर्भर होते है। उदाहरण के लिए अगर आप कंप्यूटर पर किसी आइकॉन ( icon ) पर क्लिक ( click ) तो एप्लीकेशन ( application ) शुरू होती है. आपका आइकॉन ( icon ) क्लिक ( click ) करना उस सॉफ्टवेर के लिए आदेश ( instruction / input ) है की आप उस आप्लिकतिओन ( application ) को ओपन ( open ) करना चाहते है.

software kya hota hai

ये काम कंप्यूटर खुद नहीं कर सकता है आम भाषा में कहे तो सॉफ्टवेर के बिना कम्पुटर बेजान होता है. तकनिकी रूप से देखे तो सॉफ्टवेर यानि निर्देशों का समूह होता है. जो आपके कंप्यूटर को बताता है क्या करना है और कैसे करना है.

सॉफ्टवेर मुख्यता २ भागो में बटा हुआ है.

१.एप्लीकेशन सॉफ्टवेर ( application software )

२. सिस्टम सॉफ्टवेर ( system software )

application software एप्लीकेशन सॉफ्टवेर :-

एप्लीकेशन सॉफ्टवेर वो सॉफ्टवेर होते है जिस से हम रोजाना उपयोग करते है और इन सॉफ्टवेयर्स को एंड यूजर सॉफ्जटवेर ( end user software ) भी कहते है. जयसे के वेब ब्राउज़र में हम इन्टरनेट सर्फ करते है, या VLC player में सोंग्स या मूवीज देखते है।                                            

system software सिस्टम सॉफ्टवेर :-

सिस्टम सॉफ्टवेर वो सॉफ्टवेर होते है जो एप्लीकेशन सॉफ्टवेर ( application software ) को सपोर्ट करते है. ये सॉफ्टवेर हार्डवेयर से इनपुट लेकर काम अंजाम देते है. आम जुबान में ऑपरेटिंग सिस्टम ( operating system ) कहा जाता है.

उदहारण ;

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ( Microsoft windows )

microsoft windows

ios ( Apple Os )

Apple Os

एंड्राइड ( Android )

android os

ये सभी सभी system software के उदाहरण है जो हम daily life में उपयोग करते है।

सॉफ्टवेर के अलग अलग प्रकार ( different types of software ) ( इन्हें कैसे खरीद सकते है या प्राप्त कर सकते है )

1. shareware शेयरवेयर :-

शेयरवेयर software आपको फ्री या फिर ट्रायल बेसिस ( परिक्षण के के लिए ) दिए जाते है ताके कम्पनीज परिक्षण का समय समाप्त होने पर आप से पैसे कमा सके.

2. liteware लाइटवेर :-

लाइटवेर ( liteware ) सॉफ्टवेयर का मतलब ऐसा सॉफ्टवेर जिस के कुछ फंक्शन बंद ( lock ) होते है। आप इन फंक्शनस को फुल वर्जन ( full version ) खरीद कर अनलॉक ( unlock ) कर सकते है.

3. freeware फ्रीवेयर :-

ये सॉफ्टवेयर वैसे तो उपयोग करने के लिए निशुल्क होते है ( free ) लेकिन आपको इस तरह के सॉफ्टवेयर में copyright restrictions होती है।

4. पब्लिक डोमेन सॉफ्टवेर ( public domain software ) :-

इस तरह के सॉफ्टवेर को आप बिना किस copyright restrictions के उपयोग कर सकते है, और ये free सॉफ्टवेर होते है .

5. ओपन सोर्स ( open source software ) :-

इस तरह के सॉफ्टवेर का सोर्स कोड ओपन होता है मतलब के इस में कोई भी इम्प्रूवमेंट ( improvement ) कर सकता है. ये पेड ( paid ) भी होते है और फ्री ( free ) भी.

हम ने आज इस पोस्ट में क्या सीखा :-

1) software kya hota hai / what is software in hindi  :- सॉफ्टवेर यानि निर्देशों का समूह होता है. जो आपके कंप्यूटर को बताता है क्या करना है और कैसे करना है.

2) सॉफ्टवेर के दो मुख्या प्रकार होते है :- १) एप्लीकेशन सॉफ्टवेर २) सिस्टम सॉफ्टवेर

***अगली पोस्ट में हम हिस्ट्री ऑफ़ कंप्यूटर ( history of computer in Hindi ) के बारे में हम जाने गे.***

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *